समीक्षा

भूखों को कटोरा न थमाएं

सिद्धांतत: कोई भी इस खाद्यान्न सुरक्षा बिल का विरोध नहीं करेगा। एक श्रेष्ठ शासक की यह चिंता अनुचित नहीं है कि कोई भी उसके राज्य में भूख न सोए। हमारी संस्कृति और परम्परा भी ‘सर्वजन हिताय’ से स्पंदित रही है। स्वामी विवेकानंद ने तो दरिद्र भूखे व्यक्ति को धर्मोपदेश देना भी अनैतिक माना है। उनका […]